रोज याद न कर पाऊ तो खुदगरज ना समझ लेना – Hindi Kavita Zindagi

रोज याद न कर पाऊ तो
खुदगरज ना समझ लेना

दरअसल छोटी सी जिन्दगी है
और परेशानियां बहुत है,,,,,,

मैं भूला नहीं हूँ किसी को,,,
मेरे बहुत अच्छे दोस्त हैं जमाने मे ,,

बस जिन्दगी उलझी पड़ीं है,,,,,
दो वक्त की रोटी कमाने मे,,,,

Hindi Kavita Kosh, Hindi Mein Kavita, Baccho Ki Hindi Kavita, Hindi Prem Kavita, Hindi Kavita On Life, Funny Kavita In Hindi, Hindi Ki Kavita, Hindi Love Kavita, Hindi Kavita Zindagi, Jivan Kavita Hindi, Hindi Kavita On Life Struggle, Zindagi Kya Hai Hindi Me, Kavita On Life In Hindi, Kavita Jindgi Ki, Facebook Poems In Hindi, Zindagi Na Milegi Dobara Poem In Hindi, Zindagi Poem By Iqbal

Bookmark and Share

हेल्लो दोस्तों,
यदि आप के पास इस से अच्छे जोक्स, शायरी, ग़ज़ल, कविता, सुविचार या कुछ ऐसा जिसे आप बहुत सारे मित्रो के साथ शेयर करना चाहते है तो यहाँ क्लिक करे
- धन्यवाद

नयी किताब आ गई हो बच्चो के रिजल्ट आ गए हो

“चलो पीहर चलो पीहर”
अगर बच्चो की बुक्स रद्दि में देदी हो

नयी किताब आ गई हो बच्चो के रिजल्ट आ गए हो,
तो चलो पीहर चलो पीहर

मिर्ची, हल्दी, धनिया भर दिए हो,
जीरा, राई, अजमा साफ कर दिए हो,
गेहू अगर भर दिए हो तो,
चलो पीहर चलो पीहर

केर का आचार दल दिया हो,
साबूदाने की चकरी हो गई हो,
ननन्द रहकर जा चुकी हे या,
भाभी रहे कर आ चुकी हे तो,
चलो पीहर चलो पीहर

गरम गरम खाने को,
ठंडा ठंडा पिने को,
देर से रात में सोने को,
देर से सुबह उठने को,
माँ के हाथ का खाने को,
भाभी का प्यार पाने को,
भाई से बात करने को,
भतीजो से मस्ती करने को,
बच्चों के साथ बच्चा बनने को,
अपनी मनमानी करने को,
चलो पीहर चलो पीहर

छुंदा और केर का आचार डालने तक
वापस आयेंगे साडे 11 महीने ससुराल में
रहने के लिए पीहर से 15 दिन में प्यार का डोज़ लाने को
15 दिन के पेट्रोल से ससुराल में
साडे 11 महीने हम ओरतो की गाड़ी भागती हे !!

इस लिए चलो पीहर चलो पीहर

Bookmark and Share

हेल्लो दोस्तों,
यदि आप के पास इस से अच्छे जोक्स, शायरी, ग़ज़ल, कविता, सुविचार या कुछ ऐसा जिसे आप बहुत सारे मित्रो के साथ शेयर करना चाहते है तो यहाँ क्लिक करे
- धन्यवाद